मीटर बदलने के नाम पर उपभोक्ताओं के साथ धोखाधड़ी

हिमांशु सुडेले व अभिषेक बुंदेला के साथ सिद्धांत यादव की रिपोर्ट 

Lka news 

www.lalitpurkiawaj.in 

ललितपुर। जनपद में बिजली विभाग द्वारा मीटर व केबल बदलने के नाम पर लोगों के साथ धोखा किया जा रहा है। विभाग ने मीटर बदलने के लिए एक कंपनी को ठेका दे रखा है। कंपनी व ठेकेदार द्वारा जनता पर खुलेआम अपनी मर्जी चलाई जा रही है, लेकिन बिजली विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा भी कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। बिजली चोरी को रोकने के उद्देश्य से बिजली विभाग द्वारा उन मीटरों को बदलने का काम किया जा रहा है, जो मीटर खराब पड़े हुए हैं या फिर चलन से बाहर हो चुके हैं। इन खराब व पुराने मीटरों के स्थान पर नये मीटर लगाए जा रहे हैं। साथ ही जिन घरों में मीटर नहीं है, वहां पर भी नवीन मीटर लगाए जा रहे हैं। यह काम एक निजी संस्था द्वारा कराया जा रहा है। पुराने मीटर के साथ इन तारों को भी हटाया जाना है, जिन तारों में जोड़ लगा हुआ है। जनपद में शासन की मंशा के विपरीत और निजी संस्था के ठेकेदार की मनमर्जी से काम हो रहा है। नवीन मीटर लगाने और केबल बदलने में काफी मनमर्जी बरती जा रही है। वहीं, दबंगों के घरों से दूरी बनाए हुए हैं, जहां पर चलन से बाहर हो चुके मीटर लगे हुए हैं। इसमें सबसे बड़ा खेल मीटरों के साथ बदले जाने वाले केबल यानी तार में किया जा रहा है। इस दौरान कंपनी के कर्मचारी मीटर के साथ उन तारों को भी बदल रहे हैं जो पूरी तरह से सही हैं। इसके अलावा बदले हुए तारों की लंबाई को कागजों में वास्तविक स्थिति से कई गुना अधिक दर्शाया जा रहा है। ऐसा इसलिए क्योंकि कनेक्शन में लगने वाले तारों का भुगतान कंपनी को सरकारी धन से किया जाना है। इसमें वह जितने अधिक तारों का व्यय बताएंगे उसी के अनुसार भुगतान दिया जाएगा। इसके अलावा यदि किसी घर की दूरी खंभे से 20 मीटर से अधिक है तो वहां पर तार नहीं बदले जा रहे हैं। 

Lka news 

Chief Editor 

Anoop Nagal 

9 4 5 2 1 1 8 6 9 3